आखिर भारत क्यों नहीं करता भारत पाकिस्तान बॉर्डर सील


दरअसल पाकिस्तान और भारत का बॉर्डर बहुत ही लंबा है जिस पर पहाड़ नदियां झरने समुंदर आदि सब शामिल है अक्सर आपने यह देखा होगा कि दूसरे देशों के बॉर्डर को वहां की सरकार पूरी तरीके से सील कर देती है लेकिन हमारे देश में ऐसा नहीं है बताते हैं आपको कि भारत और पाकिस्तान में आजादी के वक्त से ही सीमा को लेकर विवाद चल रहा है जिसके कारण कोई भी देश अपनी सीमा को सील नहीं करता । भारत और पाकिस्तान का बॉर्डर सिर्फ एक राज्य में नहीं बल्कि अलग अलग राज्य में स्थित है जैसे –

राजस्थान में भारत पाकिस्तान का बॉर्डर –

भारत-पाकिस्‍तान का बॉर्डर राजस्‍थान में 1037 किलोमीटर तक फैला है। राजस्‍थान का थार का रेगिस्‍तान भारत और पाकिस्‍तान के दक्षिणी-पूर्वी हिस्‍से तक जाता है। विशेषज्ञों की मानें तो इस हिस्‍से में पहले से 32 किलोमीटर तक बॉर्डर है जिसकी फेंसिंग यहां पर मौजूद मुश्किल हालातों की वजह से नहीं हो सकी है।

गुजरात मे करीब 508 किलोमीटर लंबा इंटरनेशनल बॉर्डर है जो भारत और पाकिस्‍तान को विभाजित करता है। यहां पर सिर्फ 262 किलोमीटर लंबे बॉर्डर की ही फेंसिंग की जा सकी है और वजह से इस क्षेत्र की भौगोलिक परिस्थितियां।


जम्मू कश्मीर में भारत पाकिस्तान का बॉर्डर –

जम्‍मू कश्‍मीर से होकर भारत-पाकिस्‍तान की 1225 किलोमीटर की सीमा गुजरता है, जिसमें 740 किलोमीटर लंबी एलओसी है। जम्‍मू में 200 किलोमीटर का इंटरनेशनल बॉर्डर है जो भारत और पाकिस्‍तान को अलग-अलग करता है। यहां पर कई नदियां और पहाड़ हैं जो बॉर्डर की सीलिंग को बहुत मुश्किल करते हैं। ऐसे में इन नदियों पर मौजूद बॉर्डर को सील करना आसान नहीं होगा।

अभिजीत चटर्जी

sources; google

161 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *